वर्तमान में दुनिया के बेहतरीन बल्लेबाजों की अगर बात करें तो एक खिलाड़ी का दबदबा सबसे अधिक है। वो खिलाड़ी और कोई नहीं बल्कि टीम इंडिया के स्टार बल्लेबाज विराट कोहली हैं। हाल ही में कोहली ने वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्ट में अपना 500वां मैच खेला। आज हम इसी दिग्गज खिलाड़ी से जुड़े एक वाकये की बात करने जा रहे हैं। बात 2009 की है जब गौतम गंभीर ने अपना मैन ऑफ द मैच विराट कोहली (Virat Kohli) को दे दिया था। उन्होंने ऐसा क्यों किया इसका अब खुलासा हुआ है।

जब गौतम गंभीर ने दिखाई दी दरियादिली

गौतम गंभीर और विराट कोहली का मैदान पर अपना एक अलग इतिहास रहा है। दोनों ही गरम मिज़ाज के खिलाड़ी हैं। दोनों ही खिलाड़ी आईपीएल में दो बार मैदान पर एक दूसरे से भिड़ चुके हैं। ये दोनों ही खिलाड़ी दिल्ली के हैं और अपनी तुनकमिज़ाजी के लिए जाने जाते हैं। हालांकि विराट के करियर के शुरुआती दौर में एक पल ऐसा भी आया था जब इन दोनों खिलाड़ी ने एक दूसरे के लिए भाईचारा दिखाया था। दरअसल 2009 में श्रीलंका के खिलाफ एक मैच के बाद गंभीर ने अपना मैन ऑफ द मैच का अवॉर्ड कोहली को दिया था।

विराट कोहली को दे दिया था मैन ऑफ द मैच

दरअसल ये वाकया 2009 का है जब श्रीलंका की टीम भारतीय दौरे पर आई थी। 5 वनडे मैचों की सीरीज के चौथे वनडे में विराट कोहली और गौतम गंभीर ने शतकीय पारी खेलकर टीम इंडिया को जीत दिलाई थी। इस मैच में गंभीर ने 137 गेंदों का सामना करते हुए नाबाद 150 रन बनाए थे। उन्होंने 14 चौके लगाए थे। वहीं कोहली ने 114 गेंदों में 107 रन बनाए थे। उन्होंने अपनी पारी में 11 चौके और 1 छक्का लगाया था। गंभीर की पारी के लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच मिला मगर उन्होंने विराट कोहली (Virat Kohli) को ये अवॉर्ड सौंप दिया।

गौतम गंभीर ने किया वजह का खुलासा

गौतम गंभीर ने 2009 में विराट कोहली (Virat Kohli) को अपना मैन ऑफ द मैच का अवॉर्ड देकर नई मिसाल कायम की थी। उन्होंने पोस्ट मैच इंटरव्यू के दौरान विराट को बुलाकर उन्हें ये अवॉर्ड सौंप दिया। इसका बाद में उन्होंने खुलासा किया था। दरअसल एक इंटरव्यू के दौरान गंभीर ने कहा कि उन्होंने ऐसा विराट (Virat Kohli) का हौसला बढ़ाने के लिए किया था। उन्होंने कहा, “मुझे पता है कि पहला शतक कितना मायने रखता है। ऐसे में पहले शतक के लिए मैन ऑफ द मैच मिले तो कोई भी क्रिकेटर उस ट्रॉफी को संभाल कर रखता है। मुझे भी कोई मेरे पहले शतक के लिए अवॉर्ड देता तो मैं उसे संभाल के रखता”।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *