भारतीय क्रिकेट के इतिहास में कई सारे दिग्गज क्रिकेट हुए हैं जिनकी तारीफों में कसीदे आज भी पढ़े जाते हैं। ऐसे ही एक खिलाड़ी हैं पूर्व धाकड़ क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag)। उनके जैसा बेखौफ ओपनर दूसरा कोई नहीं हुआ। सहवाग ने एक से एक रिकॉर्ड बनाए। लेकिन क्या आप जानते हैं, 2007 टी20 विश्व कप जीतने का गुरुमंत्र वीरू ने ही टीम को दिया था। हाल ही में इस राज़ से पर्दा उठा है।

भारत ने जीता था 2007 टी20 विश्व कप

भारतीय टीम ने जब कपिल देव की अगुवाई में 1983 विश्व कप जीता था, उसके बाद उन्हें अगला विश्व कप जीतने के लिए करीब 24 साल इंतजार करना पड़ा। साल 2007 में टीम इंडिया ने दक्षिण अफ्रीका में हुए टी20 विश्व कप पर अपना कब्जा किया था। उन्होंने यह कारनामा एमएस धोनी की अगुवाई में किया था। भारत ने फाइनल में पाकिस्तान को महज 5 रनों से हराकर खिताब पर कब्जा किया था। बता दें कि 1983 के बाद यह टीम इंडिया का दूसरा विश्व खिताब था।

Virender Sehwag के गुरुमंत्र के चलते बने चैंपियन

2007 टी20 विश्व कप में टीम इंडिया के चैंपियन बनने का श्रेय काफी हद तक एमएस धोनी को जाता है। मगर हाल ही में ऐसा खुलासा हुआ है कि इसके पीछे वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) का भी उतनी ही हाथ था। दरअसल इस टूर्नामेंट के शुरु होने से पहले टीम मीटिंग के दौरान सहवाग (Virender Sehwag) ने एक गुरुमंत्र दिया था। उन्होंने बताया था कि वह पहले यहां कई बार खेल चुके हैं। साउथ अफ्रीका में रात 8 बजे के बाद चेज न के बराबर होता है। इसलिए टॉस जीतने के बाद पहले बैटिंग करना फायदेमंद होगा। भारत ने इस गुरुमंत्र का पालन किया और बाद में चलकर इतिहास के पन्नों में अपना नाम दर्ज करा लिया।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *